कोई भूत नहीं हिंदी स्टोरी, New bhoot story in hindi may 2019

By | May 25, 2019

New bhoot story in hindi may 2019

कोई भूत नहीं हिंदी स्टोरी, New bhoot story in hindi may 2019, तुम्हारा दोस्त अभी तक आया नहीं है, ऐसा क्या हुआ है जो वह अभी तक आया नहीं है हम उसका ज्यादा देर तक इनतजार नहीं कर सकते है हमे चलना ही होगा.

कोई भूत नहीं हिंदी स्टोरी : New bhoot story in hindi may 2019

bhoot story.jpg

New bhoot story in hindi may 2019

मगर दूसरे दोस्त ने कहा की जब वह हमसे खुद ही कह रहा था तो उसे आने दीजिये हम सभी साथ में चलेंगे हमे कुछ देर तक उसका इंतज़ार करना ही होगा नहीं तो वह बुरा मान जाएगा उसकी बात सुनकर सुनकर वह कहने लगा की ठीक है कुछ देर एक हम इंतज़ार करते है वह सामने से आता हुआ नज़र आ रहा था तभी उसने कहा की चलो वह समय से आ गया है,

 

तुम तो बुहत देर बाद आये हो हम तो इंतज़ार कर रहे थे हमे ऐसा लग रहा था की तुम आने वाले नहीं, उसने कहा की जब घर से निकल रहा था तो हमारे पंडित जी अचानक ही आ गए थे उनसे कुछ देर बात करने में लग गयी थी जैसे ही मेने उन्हें बताया की हम सफर पर जा रहे है उन्होंने मना कर दिया था और कहा की यह सफर पर जाना अच्छा नहीं है मगर अब में तैयार हो गया था इसलिए अब रुकना नहीं चाहता था इसीलिए देर हो गयी थी,

 

कुछ समय बाद तीनो अपने सफर पर निकल गए थे उनका सफर एक गांव में पूरा होना था उस गांव में पहले बार जा रहे थे उससे पहले वह कभी नहीं गए थे, उन्हें बुलाया गया था शायद कुछ ऐसा था जोकि उन्हें अच्छा नहीं लग रहा था इसलिए वह सभी डरे हुए लग रहे थे उनका डर कैसा होगा यह पता नहीं था, मगर यह सब कुछ तो वही जाकर ही पता चल पायेगा हम तीनो दोस्त साथ में काम करते है इसलिए तीनो ही साथ में जा रहा था वह कुछ समय बाद उस जगह पर पहुंच गए थे वह एक बहुत पुराना गांव था

 

सभी उस जगह पर आराम से रहते थे मगर कुछ दिनों से कुछ अजीब चल रहा था यह क्या था शायद उन्हें पता नहीं था कुछ लोग भूत समझ रहे थे कुछ का कहना था की यह जगह अब शापित हो गयी है इसलिए बहुत का यह पर डेरा है, सच क्या था यह पता करना जरुरी था मगर सच कैसे पता चलता है यह बात कितनी सच्ची है कुछ तो समझना होगा सबसे पहले उनकी बातो से ही कुछ पता चल जाए तो अच्छा होगा वह बाते करते है किसी भूत की, मगर यह भूत उन्हें नज़र भी आता है

 

उनकी बाते थे की कुछ दिन पहले की बात है शयाम अपने घर वापिस आ रहा था यह राटा का समय था उसे डर नहीं लग रह था क्योकि इसमें डरने की कोई बता नहीं थी हर रोज ऐसा होता था की खेत के काम से जाना पड़ता था और रात को ही वापिस आया जाता था मगर उस दिन तो कुछ अलग बात थी, वह जब वापिस आ रहा था तो एक पेड़ के पास कोई खड़ा था पहले तो यही लग रहा था की वह कोई आदमी है जो उसे देख रहा है

 

मगर ऐसा नहीं था जब वह उसे देखने आया तो वह उस जगह पर नहीं था वह तो कही भी नज़र नहीं आ रहा था वह कहा चला गया था कुछ भी पता नहीं था मगर यह कोई बड़ी बात नहीं थी अगली दिन रात को वह एक नहीं दो आदमी थे वह उन्हें भी देखने गया था वह दोनों ही आदमी गायब हो गए थे अब बात सोचने की थी, क्योकि ऐसा नहीं हो सकता था कुछ बात तो थी जो समझ में नहीं आ रही थी उसने सभी को बताया था की उस पेड़ के पास जरूर कोई है जो हर रोज नज़र आता है

 

इसलिए सभी ने उस पेड़ के चारो और सुरक्षा के इंतज़ाम कर दिए थे फिर तीनो ने पूछा की यह इंतज़ाम कैसे थे उसने कहा की हमने पेड़ को एक तरह से बाँध दिया था मगर वह रस्सी भी अगले दिन खुल गयी थी कुछ भी समझ नहीं आ रहा था अब क्या हो सकता है हमे कुछ नहीं पता था आपके बारे में गांव में कोई बता रहा था जो इस तरह के उपाय करते है इसलिए हमने आपको फ़ोन किया और आप आ गए है अब यह समस्या कैसे दूर होगी हमे कुछ बताये,

Read More-डर की वजह क्या थी नयी कहानी

उनकी बात तो समझ आ गयी थी मगर इसमें कुछ भी भूत के बारे में नहीं था हमे नहीं लग रहा था की यहां पर कोई भूत है कुछ बात तो है जो हमे पता नहीं चल रही है इसका पता लगाना जरुरी था तीनो ने कहा कि गांव में कुछ दिन पहले कुछ हुआ था वह कहने लगे की ऐसा तो कुछ भी नया नहीं था मगर कुछ दिन पहले की बात है की हमारे सेठ के यहां पर चोरी हुई थी इसमें तो भूत का कोई मतलब नहीं है कुछ बात तो समझ आ रही थी मगर अभी कुछ नहीं कह सकते थे

Read More-भूतिया रास्ते की कहानी

उसके बाद तीनो ने सब कुछ पता लगाया था और जो पता चल गया था अगले दिन गांव वालो को भी बताया गया था आपको शायद पता नहीं था की यहां पर कोई भूत नहीं है बल्कि यह बात कुछ और ही है जैसा की आप जानते है की सेठ के यहां पर चोरी हुई थी मगर सामान किसी को भी नहीं मिला था आपको लग रहा था की चोर बाहर से आया है बल्कि ऐसा नहीं है चोर गांव का है और वह पेड़ जिसके बारे में आप बात कर रहे है उसके नीचे सभी सोने के गहने अभी भी है चोर उसे नहीं निकाल पाया था

Read More-चलते पेड़ की डरावनी कहानी

वह हर बार कोशिश करता था मगर कोई भी देख लेता था वह उस जगह से चले जाता था दिन में वह आ नहीं सकता था और रात को हमेशा कोई देख लेता था इस तरह वह सामान नहीं निकाल पाया था और चोरी का सामान अभी भी वही पर है और चोर गांव का है जो की रात को ही पकड़ा जा चूका है यह कोई भूय नहीं है बल्कि चोर है इस तरह गांव की समस्या भी दूर हो गयी थी एयर चोर भी पकड़ा गया था, New bhoot story in hindi may 2019, कोई भूत नहीं हिंदी स्टोरी, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

Read More Hindi Ghost Story :-

Horror story in hindi :- भूत की नयी कहानी

Horror story in hindi :-भूत का सच कहानी

Horror story in hindi :- रियल भूत की कहानी

Horror story in hindi :- भयानक पुतले की डरावनी कहानी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *