kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi | लोमड़ी और कौवा की एक नई कहानी

kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi

लोमड़ी और कौवा की एक नई कहानी, kauwa aur lomdi, लोमड़ी एक घर से हमेशा ही खाना लेकर भाग जाती थी इस तरह कौवा उसे हर रोज देखा करता था वह भी इसी बात के लिए सोचा करता था कि इस lomdi से वह खाना मैं लेकर चला जाऊं लेकिन kauwa को अभी कोई भी समय नहीं मिल रहा था lomdi हमेशा उस घर से खाना लेती थी

kauwa aur lomdi : लोमड़ी और कौवा की एक नई कहानी

kauwa aur lomdi
kauwa aur lomdi

kauwa पेड़ पर बैठा हुआ उसे देखता रहता था कौवे को भी भूख लग रही थी लेकिन लोमड़ी से खाना कैसे ले सकता था इसलिए वह lomdi के लिए एक योजना बना रहा था जिसके बाद उससे खाना मिल सकता था एक दिन वह lomdi उस घर में बने खाने को ले जा रही थी तो वह kauwa भी पेड़ पर बैठा हुआ उसे देख रहा था और अचानक लोमड़ी के सामने आ गया और lomdi से कहने लगा कि अगर तुमने मुझे खाना नहीं दिया तो मैं सबको बता दूंगा कि तुम यहां से हर रोज खाना लेकर जाती हो

एक तोते की पंचतंत्र कहानी

lomdi ने कहा कि मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि तुम किसे बताते हो मुझे तो अपना खाना चाहिए और तुम अपने काम पर ध्यान दो मुझे यहां से जाने दो और लोमड़ी कुछ देर बाद वहां से चली जाती है kauwa को लग रहा था कि इस तरह तो lomdi उसकी बात नहीं मानेगी इसलिए कौवा अपने साथियों के पास जाता है और कहता है कि उस lomdi को हमें सबक सिखाना चाहिए

शेर और भालू बच्चों की कहानी

वह किसी की भी बात नहीं मान रही है और इस तरह बहुत सारे कौवे भी उसी पेड़ पर आकर बैठ गए सुबह का वक्त हो गया था और lomdi अपने समय के अनुसार उस घर से खाना ले जाने वाली थी तभी बहुत सारे कौवे उसके पीछे खड़े हुए थे लोमड़ी को इस बारे में कोई ज्ञान नहीं तो खाना लेकर आ रही थी तभी बहुत सारे kauwa लोमड़ी पर हमला कर दिया और उसका खाना वहीं पर छूट गया लोमड़ी वहां से भाग गई उसके बाद lomdi काफी दिन तक उस तरफ नहीं आई क्योंकि lomdi समझ गई थी कि वहां पर बहुत सारे kauwa होंगे और वह मुझे खाना नहीं ले जाने देंगे और इस तरह कौवे भी धीरे-धीरे उस घर से खाना ले जाते हो और अपना पेट भरते थे लेकिन lomdi उस जगह पर दोबारा कभी नहीं आई

Kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi

इस कहानी से हमें यही सीख मिलती है कि लोमड़ी यही सोचा करती थी कि एक kauwa उसका कुछ नहीं कर सकता इसलिए lomdi को यह भ्रम था और इस तरह बहुत कौवे ने मिलकर उस लोमड़ी को वहां से भगा दिया और उस घर में lomdi दोबारा कभी नहीं गई हमें भी इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमें आपको कभी भी बड़ा नहीं समझना चाहिए क्योंकि हमसे कोई भी ऊपर हो सकता है अगर आपको यह कहानी Kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi पसंद आयी है तो आगे भी शेयर कर सकते है

 

Kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi : लोमड़ी और कौवा की दूसरी कहानी

यह बात lomdi जान गयी थी की यह कौवा मुझे अब खाना नहीं ले जाने देगा अब मुझे कुछ सोचना ही होगा उसे भी यह बात समझ नहीं आ रही थी की यह कौवा अब बहुत से सारे kauwa को लेकर आ गया है अब यह मेरे साथ अच्छन नहीं करने वाला है लोमड़ी इस बात को सोच रही थी की इस कौवा को भी खाना नहीं मिलना चाहिए

अकबर बीरबल और राजा की समस्या

अगले दिन lomdi उस घर में जाती और वहा से खाना लाती है और बाहर गिरा देती है कुछ देर बाद बहुत सारे कौवा भी उस खाने को ले जाने आते है और उस घर से वह बूढी माँ आती है और देखती है की यह बहुत सारे कौवा उसका खाना खा रहे है उन्हें देखकर वह गुस्सा करती है और सभी kauwa को भगा देती है और उस पेड़ को भी कटवा देती है जिस पर वह सभी कौवा बैठा करते थे और इस तरह lomdi उस दिन का बदला लेती है जिस दिन उसे कौवा ने भगा दिया था

Kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi

सभी kauwa वहा से चले जाते है लेकिन वह कौवा जानता था की यह सब कुछ उस लोमड़ी ने किया है मगर वह कुछ नहीं कर पाता है lomdi अब उस घर से खाना आराम से लेती है बहुत बार बूढी माँ उसे भगाती है मगर कुछ नहीं होता है वह lomdi मौका देख कर फिर आ जाती है इस तरह लोमड़ी को फिर से खाना मिल जाता है अगर आपको यह कहानी Kauwa aur lomdi and lomdi aur kauwa in hindi पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read More Hindi Kids Story :-

एक गुफा छोटे बच्चो की कहानी

राजकुमारी और जादूगर की कहानी

नदी का किनारा कहानी

बीरबल और किसान की फसल

एक चिड़िया की नयी कहानी

यह शेर और चूहे की कहानी

मगरमच्छ और बंदर की दोस्ती

राजा और बंदर की कहानी

राजा की योजना बच्चों की कहानी

यह शेर और चूहे की कहानी

बीरबल और बूढ़ा आदमी

किताब की नयी कहानी

गोल्डफिश पंचतंत्र की कहानी

लड़के का व्यवहार किड्स कहानी

पंचतंत्र की जादुई कहानी

घोड़े की एक नयी कहानी

तालाब का बॉक्स कहानी

जंगल का डर कहानी

एक लालच की कुर्सी

परी लोक कथा

जादुई पत्थर पंचतंत्र कहानी

राजकुमारी की मोरल कहानी

तेनालीराम और खेत की समस्या कहानी

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!